मोहम्मद अलतमश, हुनरमंदों के शहर मऊ, उत्तर प्रदेश से तअल्लुक़ रखते हैं। 'एन्टी नेशनल यूनिवर्सिटी' जेएनयू से पढ़ाई की है। पहले तबलीग़, फिर कम्युनिस्टों का झण्डा उठाया और आख़िरकार पसमांदा आंदोलन की अलख जगा रहे हैं.... मतलब कि दैर-ओ-हरम से हो कर मैख़ाने आये हैं!