अनाया तत्कालीन भारतीय राजनीतिक परिसर में फैली हिटलरशाही मूर्खता से आजीज़ आकर एक लेखक और विचारक बन पड़ी हैं। प्रोफेशनली ये मार्केटिंग फ़ील्ड में अनुभव रखती हैं सम्पर्क : [email protected]